अमीश त्रिपाठी

अमीश त्रिपाठी के भारतीय पौराणिक आख्यानों पर आधारित उपन्यासों की युवाओं में सबसे ज्यादा दीवानगी है। वे अपनी कल्पना व यथार्थ जगत से तालमेल बिठाते हुए लिखते हैं और शिवात्रयी के बाद अब रामचंद्र श्रृंखला की तीसरी पुस्तक पर काम कर रहे हैं। अजय विद्युत से बातचीत में उन्होंने साफ कहा कि हमें विभिन्न धर्म में समानता तलाशने की नादानी से बचना चाहिए।